क्या कहूँ ? शब्द नहीं हैं मेरे पास। हर बात को सेना के सम्मान से जोड़ कर लोगों का मुँह बंद कराने वाली भाजपा के शाषण में सेना की ये दुर्गति हो रही है। एक तरफ तो जवान शहीद हो रहे हैं वहीं दूसरी तरफ सरकार सेना का नाम ले कर झूठ वे झूठ बोले जा रही है। ये कैसी देशभक्ति है ये कैसा सम्मान हौ? सेना के दो जवानों को मार कर पाकिस्तानी शैतानों ने उनका सर काट दिया , सर कहाँ है पता नहीं , देश के लालों का सर कटा पार्थिव शरीर उनके घरों को आ रहा है तो घर वाले उनके बिना सर के शव को लेने से इन्कार कर रहे हैं। "सेना में मेरे भाई पूरे शरीर के साथ गये थे मुझे उनका पूरा शरीर चाहिए" यह कहना है बीएसएफ के शहीद सैनिक प्रेम सागर और बीएसएफ जवान दयाशंकर का। शहीद प्रेम सागर की दोनों बेटियाँ सरकार से किसी भी मदद के बदले "एक सर के बदले 50 पाकिस्तानियों के सर" की माँग कर रहीं हैं। देश गम और गुस्से में उबल रहा है और मोदी की तरफ देख रहा है , मोदी की पार्टी ऐसे वातावरण में जीत का जश्न मना रही है , उसके प्रवक्ता नैशनल टेलीविजन पर बैठ कर कितनी मक्कारी से झूठ पर झूठ बोल रहे हैं। देश झूठ और मक्कारी की बुनियाद पर ही चल रहा है , भाजपा और संघ का जन्म भी झूठ के विर्य और झूठ के गर्भ में ही हुआ है। सरहद पर दो सैनिकों की बर्बरता से मारे जाने की खबर के साथ साथ यह खबर कि "भारतीय सेना ने पाकिस्तान के दो पोस्ट उड़ा दिए और बदला लेते हुए 7 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया" यह झूठी खबर देश के उन समाचार चैनलों समाचार पत्रों और वेबपोर्टल पर चलने लगी , छपने लगी , दिखने लगी। झूठी खबर पर भ्रम फैलाकर देश में इन शहीदों की बर्बर मृत्यु से पैदा होने वाला त्वरित गुस्सा इन भाँड समाचार समूहों ने रोक दिया। आजतक , राजस्थान पत्रिका , दैनिक जागरण , दैनिक भास्कर जैसे पत्रकारिता की जगह दलाली करने वाले मीडिया समूह झूठी खबर चला कर देश को दिग्भ्रमित कर चुके हैं। सेना ने स्वयं ऐसी कार्यवाही से इन्कार कर दिया। http://www.jansatta.com/rajya/army-dismissed-retaliation-claims-over-mutilation-says-tv-channels-go-ballistic-without-confirming/313995/ गज़ब दिशा में जा रहा है मेरा देश Mohd Zahid शेयर करें

  FaceDL prepare this results ( 0.630 seconds)